Home > App Ki News > नीली आंखों वाली गोरी लड़कियों को पत्नी बनाने के लिए रूस जा रहे लोग, जानिए क्यों

नीली आंखों वाली गोरी लड़कियों को पत्नी बनाने के लिए रूस जा रहे लोग, जानिए क्यों

हमारे देश भारत में पिछले कई दशकों से पुरुषों के मुकाबले स्त्रियों की संख्या में भारी कमी आई है। स्थिति यहां तक आ गई की सरकार को बेटी बचाओ का नारा देना पड़ा। इसके अलावा भी सरकार ने बेटीयो को बचाने के लिए कई कानून लागू किए है। ताकि लड़को व लड़कियों के अनुपात में अन्तर को कम किया जा सके। लड़कियो की घटती संख्या से भारत में कुंवारों की संख्या भी बढ़ती जा रही है जो कई सामाजिक समस्याओं का कारण बन रही हैं, लेकिन ये समस्या केवल भारत में ही नही है, महाशक्ति माना जाने वाला चीन (china boys)  भी इस समस्या से परेशान है।

china boys

यह भी देखें : मरीजो को देखते ही कपड़े खोल देती है ये डॉक्टर,फिर करती है इलाज, देखें वीडियो

चीन में कई दशको से ‘वन चाइल्ड पॉलिसी’ लागू है। मतलब वहां लोग केवल एक ही बच्चा पैदा कर सकते है। चीन की इसी निती के चलते वहां अब लड़कियो की संख्या कम हो गयाी है व शादी के लायक हो चुके लड़को को लड़किया ढूढ़ने के लिए दूसरे देशो का रुख करना पड रहा है। इसे चीन में ‘वाइफ टूरिज्म’ के नाम से पुकारा जाता है। चीन के कई अमीर आदमी इन दिनों विदेशो में घुम रहे है ताकि अपने लिए एक सुन्दर पत्नि को पा सके।

रुस है पहली पंसद

चीन के ज्यादातर युवक लड़की ढूढ़ने रुस की और रुख करते है क्योकि वहां पर महिलाओं का अनुपात पुरुषो से ज्यादा है। इसके अलावा रुस की लड़किया सुन्दर व गौरी भी होती है। उनकी यह बात चीनी लड़को (china boys) को उनकी और खेच लाती है।

एंजेसी से होता है काम

इस काम के लिए रुस में बकायदा एक एंजेसी काम कर रही है, जो चीनी युवको को रुसी लड़कियो से मिलवाती है। ये एंजसी चीन से आने वाले लड़को (china boys) को रुस की शादी लायक लडको से मिलवाने का प्रबन्ध करती है यदि दोनो की सहमति बन जाती है तो शादी की बात पक्की हो जाती है। लेकिन इस एंजसी के द्वारा लड़की ढूढ़ना भी कोई असान काम नही है इस काम के लिए एक मिटिंग के लाखो रुपये लग सकते है, व मिटिंग के दौरान पूरी तरह सभ्यता से पैश आना होता है। इतना करने पर भी बात ऐसे ही नही बनती, चीनी लड़को को इन लड़कियो को इंप्रेस करने के लिए तरह तरह के उपाय करने होते है।

china boys

Video: यह लड़की बिना कपड़ों के घूमती रही पूरा शहर, नहीं चला किसी को पता

क्या है अनुपात दोनो देशो में

चीन में इस समस्या का कारण वहा का लिंग अनुपात है। वहा पर प्रति 100 महिलाओं पर 120 पुरुष है। रुस में महिलाओं की संख्या ज्यादा है, वहा पर प्रति 85 पुरुषो पर 100 महिलाएं है।
source : IL

https://duta.in/mobile-pe-news-iframe.php
loading...

Check Also

costly lemon

यहा एक नींबू की कीमत है हजारो में , जानिए क्या है ऐसा खास इस नींबू में

नींबू प्रकृति द्वारा दिया गया एक ऐसा पदार्थ है जिसमें अनेक गुण है। विशेषकर गर्मियो …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *