Home > App Ki News > जीएसटी बिल के फायदे और नुकसान: ये चीजें होंगी महंगी, ये होंगी सस्ती

जीएसटी बिल के फायदे और नुकसान: ये चीजें होंगी महंगी, ये होंगी सस्ती

नई दिल्ली। जीएसटी बिल पास किया जा चुका है और कई राज्यों ने भी इसे हरी झंडी दे दी है। गुड्स सर्विसेज टैक्स के नाम से आने वाला यह टैक्स कई चीजों के दामों में बदलाव करेगा। सबसे ज्यादा असर आपकी रसोई में काम आने वाली चीजों पर पड़ने वाला है, ये चीजें महंगी होंगी। लेकिन टीवी, एसी, फ्रिज जैसे आइटम सस्ते होंगे। आइए समझते हैं कि जीएसटी विधेयक बिल क्या है और कैसे आपको होगा जीएसटी से फायदा। साथ ही जानेंगे GST Bill से क्या होगा महंगा और क्या होगा सस्ता:

gst-bill
GST Bill

जीएसटी में सस्ता
— रसोई से जुड़ी चीजें महंगी हो सकती हैं। इन पर अब 5 की जगह 6 फीसदी टैक्स लग सकता है।
— इनमें धनिया, हल्दी, चिकन, सरसों का तेल, मूंगफली का तेल, नारियल तेल, काजू, हल्दी, धनिया, जीरा, बेसन, चने से बने उत्पाद, मच्छर मारने की स्प्रे इत्यादि।

जीएसटी में महंगा
— घी, मक्खन, खजूर, किशमिश, मोमबत्ती, ऑटो रिक्शा का किराया, चाय, करी, पाउडर, सूटकेश, शेविंग का सामान, रेडियो, टीवी, वाशिंग मशीन, इलेक्ट्रिक सामान, कारें इत्यादि।

जीएसटी में ये होगी करों की दर
केंद्र सरकार और राज्यों ने सहमति से कर के 4 लेयर तय किए हैं। पहला लेयर 6 प्रतिशत का, दूसरा लेयर 12 प्रतिशत का,तीसरा लेयर 18 प्रतिशत का और चौथा लेयर 26 प्रतिशत का है। इन लेयर्स को आम आदमी पर बोझ नहीं डालने और राजस्व में घाटा ना हो को ध्यान में रखकर बनाया गया है। हालांकि ये केवल प्रस्तावित दरें हैं, इन पर अंतिम फैसला 3—4 नवंबर को होने वाली बैठक में लिया जाएगा।

कब लागू होगा जीएसटी बिल (GST Bill)
जीएसटी विधेयक लोकसभा और राज्यसभा दोनों में पारित हो चुका है। अब इसे अप्रेल 2017 में लागू करने की तैयारी है। इसके लिए राज्यों में ट्रेनिंग दी जा रही है। एक्सपर्ट जीएसटी से जुड़ी बारिकियां लोगों को समझा रहे हैं। जीएसटी बिल लागू होते ही केंद्र और राज्यों में अब तक लगने वाले अलग—अलग टैक्स समाप्त हो जाएंगे। पूरे देश में केवल एक ही कर होगा जिसे जीएसटी कहा जाएगा।

जीएसटी बिल क्या है (What is GST Bill)
जीएसटी बिल यानि कि गुड्स सर्विसेज टैक्स। दुनिया के कई देशों में लागू इस टैक्स प्रणाली को अब भारत में भी लागू किया जाना है। जीएसटी का सबसे बड़ा फायदा होगा पूरे देश में एक जैसा कर लागू होना। इसे आप एक उदाहरण से समझ सकते हैं। जैसे कि आप अपने लिए कोई गाड़ी खरीदते हैं। एक ही कंपनी की गाड़ी की कीमत एक राज्य में अलग तो दूसरे राज्य में अलग होती है। इसके पीछे तर्क ये दिया जाता है कि हर राज्य में टैक्स की दरें अलग—अलग हैं इसलिए कीमतें भी अलग हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा, एक गाड़ी की देशभर में एक ही कीमत होगी। ऐसा ही शराब के मामले में भी है, लेकिन जीएसटी लागू होने के बाद एक देश एक टैक्स होगा।

वर्तमान में आम आदमी से लेकर उद्योगपतियों को अलग—अलग तरह के टैक्स चुकाने पड़ते हैं। जैसे कि आप सर्विस टैक्स देते हैं, सैस देते हैं और कई छिपे हुए टैक्स आपसे सीधे या अप्रत्यक्ष रूप से वसूले जाते हैं। इसके चलते व्यापारी और आम आदमी, दोनों टैक्स चोरी के लिए जुगाड़ लगाते हैं। इससे देश को आर्थिक नुकसान होता है। जीएसटी के आने से टैक्स चोरी पर लगाम लगेगी।

https://duta.in/mobile-pe-news-iframe.php
loading...

Check Also

GST on Gold

क्या पुराने सोने, ज्वैलरी एवं वाहनों को बेचने पर नहीं लगेगा जीएसटी, यहां जानें

नई दिल्ली। अगर आप जीएसटी के चलते पुराने व्हीकल्स एवं गहने, सोना बेचने में असमंजस …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *