Home > Business > जीएसटी के अनुसार नई एमआरपी पर ही बिकेगी चीजे इस तारीख से, बढ़ सकती है मंहगाई

जीएसटी के अनुसार नई एमआरपी पर ही बिकेगी चीजे इस तारीख से, बढ़ सकती है मंहगाई

जीएसटी को लागू हुए तीन महीने होने को है। इसका अर्थव्यवस्था पर असर दिखना शुरु भी हो गया है। हालाकि इसका अर्थव्यवस्था पर क्या प्रभाव पड रहा है, इसका विश्लेषण अभी विवाद का विषय है। लेकिन व्यापार जगत मे इसका प्रभाव साफ दिखाई देने लगा है। जीएसटी के लागू होने के साथ ही सरकार ने नई कीमतो (gst new mrp) पर माल बेचने के लिए कंपनियो को तीन माह का समय दिया था। गौरतलब है कि जीएसटी के बाद सभी सामानो की कीमतो में परिवर्तन हुआ है। ऐसे में उस समय जो प्रोडेक्ट बाजार में थे। उनकी कीमतो में परिवर्तन संभव नही था। जिसके चलते सरकार ने पूरानी एमआरपी पर सामान बेचने की अनुमति दी थी। लेकिन पूराने माल को खत्म करने के लिए सरकार ने तीन महीनो का समय दिया था।

gst new mrp

यह भी देखें : इस खूबसूरत हसीना को बॉलीवुड में लॉन्च करेंगे सलमान, जानिए किस स्टार की है बेटी

अब यह समय खत्म होने वाला है। जुलाई में लागू हुए इस नियम के तीन महीने 30 सितंबर को खत्म हो जायेगे। ऐसे में अब 1 अक्टूबर से व्यापारियो को नई एमआरपी (gst new mrp) पर ही सामान बेचना होगा। सरकार ने सभी राज्यो में इस नियम से पडने वाले असर को लेकर उपभोक्ता मंत्रालय से जानकारी भी मांगी थी। ताकि किसी को किसी प्रकार की परेशानी ना हो। अब खबरे आ रही है कि 30 सितंबर की अतिम सीमा के बाद इस तारीख को आगे बढाये जाने के बहुत कम संभावना है। इसलिए व्यापारियो को 1 अक्टूबर से नई एमआरपी पर ही सामान बेचना होगा। यदि कोई व्यापारी इस अवधि के बाद भी पुरानी एमआरपी पर सामान बेचता हुआ पकडा जाता है तो उसका पूरा सामान जब्त भी किया जा सकता है। सरकार इस नियम की पूरी तरह से पालना कराने के मूड में है।

यह भी देखें : शाहरुख से मजाक करना इस एंकर को पडा भारी, गुस्से से भरे शाहरुख का वीडियो हुआ वायरल

वही दूसरी तरफ इस तरह की शिकायते भी आ रही है कि नई एमआरपी (gst new mrp) में कुछ कंपनियो ने अपने प्रोडेक्ट की कीमतो में काफी वृद्वि कर दी है। जिसके चलते आम आदमी को परेशानी होना लगभग तय है। और इससे मंहगाई का बढना भी तय है। लेकिन इसी बीच कुछ कंपनिया ऐसी भी है जिन्होने अपनी नई एमआरपी में सामान की कीमतो में कमी की है। गौरतलब है कि सरकार ने जीएसटी के अन्तर्गत सभी वस्तुओ और सेवाओ को चार कर स्लैब के अन्तर्गत रखा है। इसलिए अब सभी प्रोडेक्ट्स की कीमतो मे बदलाव होना तय है।

loading...

About Komal Sharma

कोमल शर्मा अपने नाम की ही तरह स्वभाव से भी सरल हैं। उनकी टीम में उन्हें सॉफ्ट के नाम से जाना जाता है। कोमल ने पत्रकारिता का मास्टर कोर्स किया है। उन्होंने कई प्रतिष्ठित कंपनियों में अपनी सेवाएं दी हैं। अब इंडिया की न्यूज में आकर उन्हें संतोष महसूस होता है। कोमल को एक्शन—कॉमेडी और रोमांटिक मूवीज पसंद हैं। हैडफोन लगाकर गाना सुनना उनकी एक बड़ी कमजोरी है।

Check Also

GST India

अब इन चीजों पर नहीं देना होगा जीएसटी बिल, इन राज्यों में नहीं लगता जीएसटी टैक्स

जीएसटी लागू होने के बाद से ही इसमें सुधार का दौर भी जारी है। हालाकि …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *