Home > App Ki News > अगर आपकी भी है किराना की दुकान तो जरूर पढ़ें ये सावधान करने वाली जानकारी

अगर आपकी भी है किराना की दुकान तो जरूर पढ़ें ये सावधान करने वाली जानकारी

नई दिल्ली। अब तक किसी व्यवसाय को अगर सेफ और टैक्स के चक्करों से बचने वाला माना गया है तो वो है किराना की दुकान। पढ़ाई, सूरत, छवि जैसी कई चीजों की कोई जरूरत नहीं। लेकिन अब ये काम मुश्किल होने वाला है। 1 जुलाई 2017 यानी शनिवार से नई टैक्स प्रणाली जीएसटी गुड्स एवं सर्विस टैक्स (GST on Kirana) लागू होने जा रही है। ऐसे में लग्जरी से लेकर किराने की दुकानों तक गहमागहमी है।

GST on Kirana
GST on Kirana

 

जीएसटी का प्रभाव न केवल लग्जरी वस्तुओं पर पड़ेगा बल्कि किराने के दुकानदार भी इससे बच नहीं पाएंगे। जीएसटी के बाद किराने की दुकानों पर भी कोई सामान बिना बिल के नहीं बिकेगा। अब तक भले ही आपने कैश देकर बिना बिल के सामान खरीदा हो लेकिन अब ऐसा नहीं हो सकेगा। चाहे कस्टमर बिल ले या नहीं, दुकानदार को पक्का बिल देना ही होगा।

1 जुलाई तक आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करना अनिवार्य, नहीं किया तो घबराएं नहीं

जानकारी के अनुसार, नई व्यवस्था के तहत व्यापारियों को मासिक, तिमाही और सालाना रिटर्न फाइल करना होगा। इसमें उन्हें प्रत्येक इनवॉइस अपलोड करना होगा ताकि हर बिक्री एवं खरीद का पता लगाया जा सके। विक्रेता के सभी चालान अपलोड करते ही इनवॉइस मैचिंग शुरू हो जाएगा। यह बी2सी लेनदेन में भी होगा। यह प्रणाली किराने की दुकानों (GST on Kirana) पर भी लागू होगी। ऐसा होने पर व्यापारी टैक्स चोरी नहीं कर सकेंगे। हालांकि उन छोटे व्यापारियों को छूट रहेगी जिनका सालाना कारोबार 20 लाख रूपए से कम हो। जीएसटी के तहत 20 लाख रूपए से अधिक टर्नओवर वाले कारोबारी के लिए रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है।

प्यार और वासना शॉर्ट मूवी में आग बरसाएगीं भूमि पेडनेकर, यहां देखें

ट्यूबलाइट की कमाई घसीटते हुए पहुंची 100 करोड़, जानिए विदेश में कितने कमाए

एक्सपर्टस का कहना है कि जीएसटी के ढ़ांचे में टैक्स चोरी के बेहद कम मौके छोड़े गए है। गौरतलब है कि व्यापारी संघ जीएसटी के विरोध में है। गुरूवार और शुक्रवार को कई जगह जीएसटी के विरोध में बाजार बंद रहे। शुक्रवार को भी एमपी समेत कई जगह विरोध हुआ। जीएसटी की विसंगतियों के विरोध में व्यापारियों ने महाबंद का ऐलान किया। बंद का असर दूध एवं दवाइयों पर भी पड़ रहा हैं।

दिशा पाटनी ने पानी और वन पीस में कराया फोटो, इतने लोगों ने देखा, आप चूक गए क्या

व्यापारियों का कहना है कि जीएसटी के बाद हिसाब-किताब रखने के लिए कम्प्यूटर की अनिवार्यता से छोटे व्यापारी व्यवसाय से बाहर हो जाएंगे। आपको बतादें जीएसटी लागू होने के बाद हर सामान एवं हर सेवा पर एक टैक्स लगेगा यानी लोग देश के किसी भी कोने में से सामान खरीदे उन्हें हर सामान एक ही कीमत में मिलेगा। अब तक एक ही सामान अलग-अलग शहरों में अलग-अलग कीमत पर मिलता था।

https://duta.in/mobile-pe-news-iframe.php
loading...

About Dimpy Sharma

डिम्पी शर्मा को शुरू से ही मीडिया इंडस्ट्री में जाने का चाव था, हालांकि केवल शौकिया तौर पर। डिम्पी डॉक्टर बनना चाहती थी,लेकिन ऐसा वह कर नहीं पाई और उनका रूझान फिर से मीडिया की ओर हो गया। डिम्पी को लेखन के अलावा, मूवीज, क्रिकेट, डेकोरेशन, बुक रि​डिंग और शेरो—ओ—शायरी का शौक है। खाली समय में वह फेसबुक पर चैटिंग और व्हाट्सएप पर वीडियो देखना पसंद करती है।

Check Also

GST on Gold

क्या पुराने सोने, ज्वैलरी एवं वाहनों को बेचने पर नहीं लगेगा जीएसटी, यहां जानें

नई दिल्ली। अगर आप जीएसटी के चलते पुराने व्हीकल्स एवं गहने, सोना बेचने में असमंजस …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *