Home > Business > नही लगेगी लेट जीएसटी रिर्टन पर पेनल्टी, पर होगा यह नुकसान

नही लगेगी लेट जीएसटी रिर्टन पर पेनल्टी, पर होगा यह नुकसान

जीएसटी की जुलाई माह की रिटर्न समय पर ना भर पाने वालो के लिए कुछ राहत की खबर है। आपको बता दे कि सरकार ने जुलाई माह की जीएसटी रिर्टन भरने के लिए अतिंम तारीख 25 अगस्त तय की थी। तय समय पर जीएसटी रिर्टन ना भर पाने की स्थिति में सरकार ने पेनल्टी (GST return late penalty) का प्रावधान रखा था। इसके तहत लेट रिर्टन भरने की स्थिति में 200 रुपये रोज के हिसाब से पेनल्टी लगाई जाना तय था। लेकिन सरकार नेे अब इसमें राहत दी है। खबरो के अनुसार सरकार ने 25 अगस्त तक जीएसटी रिर्टन ना भर पाने वालो पर पेनल्टी ना लगाने का फैसला किया है।

GST return late penalty

यह भी पढ़े : केआरके ने शाहरूख को कहा-‘छिछोरा’, जानिए क्या थी ऐसी बेंजा वजह

सरकार के इस फैसले से लाखो लोगो को राहत मिलेगी। खबरो के अनुसार जुलाई माह तक करीब 59.5 लाख टैक्स पेयर्स ने जीएसटी रिर्टन के लिए रजिस्ट्रेशन किया था। लेकिन तय समय तक केवल 38.3 लाख लोग ही रिर्टन भर पाये थे। ऐसे में बाकि लोगो को पेनल्टी (GST return late penalty) लगने का भय सता रहा था। लेकिन अब सरकार ने इस पेनल्टी को नही लगाने का फैसला किया है। जिससे इन लोगो को राहत मिलना तय है। लेकिन ऐसे में भी लेट रिर्टन भरने वालो पर कुछ आर्थिक बोझ तो पडेगा ही। सरकार ने लेट रिर्टन भरने पर लगने वाली पेनल्टी तो माफ कर दी है। लेकिन लेट पेमेंट पर लगने वाला ब्याज सरकार छोडने के मूड में नही है।

यह भी देखें : कैसे हुआ जाता है सोशल मीडिया पर वायरल, जानना है तो देखे वीडियो

फाइनेंस मिनिस्ट्री ने यह स्पष्ट किया है। कि पेनल्टी (GST return late penalty) ना लगने की दशा में भी लेट पेमेंट पर लगने वाला ब्याज लेट रिर्टन भरने वाले कर दातओ को देना होगा। इसमें किसी प्रकार की छूट नही दी गई है। इस तरह देखा जाए तो लेट रिर्टन भरने वालो को कुछ रकम अतिरिक्त तो खर्च करनी ही होगी। आपको बता दे कि सरकार ने जुलाई माह से पूरे देश में जीएसटी लागू की है। एक देश एक कर का नारा देते हुए सरकार ने सभी वस्तुओ और सेवाओं को एक टैक्स के दायरे में लाने का प्रयास किया है।

loading...

About Komal Sharma

कोमल शर्मा अपने नाम की ही तरह स्वभाव से भी सरल हैं। उनकी टीम में उन्हें सॉफ्ट के नाम से जाना जाता है। कोमल ने पत्रकारिता का मास्टर कोर्स किया है। उन्होंने कई प्रतिष्ठित कंपनियों में अपनी सेवाएं दी हैं। अब इंडिया की न्यूज में आकर उन्हें संतोष महसूस होता है। कोमल को एक्शन—कॉमेडी और रोमांटिक मूवीज पसंद हैं। हैडफोन लगाकर गाना सुनना उनकी एक बड़ी कमजोरी है।

Check Also

GST on Gold

क्या पुराने सोने, ज्वैलरी एवं वाहनों को बेचने पर नहीं लगेगा जीएसटी, यहां जानें

नई दिल्ली। अगर आप जीएसटी के चलते पुराने व्हीकल्स एवं गहने, सोना बेचने में असमंजस …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *