Home > Business > रेस्टोरेंट में सर्विस चार्ज देना जरूरी नहीं, ग्राहक की मर्जी हो तो दें

रेस्टोरेंट में सर्विस चार्ज देना जरूरी नहीं, ग्राहक की मर्जी हो तो दें

नई दिल्ली। अब तक आप कई होटल्स एवं रेस्टोरेंट में खाना खाने गए होंगे और सर्विस चार्ज (service charge) भी दिया होगा, भले ही आपको सर्विस पंसद आए या नहीं। अगर अब यदि आपको किसी रेस्टोरेंट में सर्विस पसंद नहीं आती है तो आप सर्विस चार्ज देने से इनकार कर सकते है। रेस्टोरेंट्स में जबरन सर्विस चार्ज वसूल जाने की शिकायतों पर कंज्यूमर अफेयर्स मंत्रालय ने यह कदम उठाया है।

service charge
service charge

 

मंत्रालय ने कहा कि देशभर में रेस्टारेंट कस्टमर्स से जबरन सर्विस चार्ज वसूल रहे है। जबकि यह ग्राहक की मर्जी पर निर्भर होता है। सरकार ने स्थिति साफ करते हुए कहा सर्विस चार्ज अनिवार्य नहीं वैकल्पिक है। इसे देने के लिए कस्टमर को मजबूर नहीं किया जा सकता। ग्राहक रेस्टोरेंट की सर्विस से खुश नहीं है तो वह सर्विस चार्ज (service charge) देने से मना कर सकता है। यदि इस पर विवाद के हालात बनें तो ग्राहक कंज्यूमर फोरम में इसकी शिकायत कर सकता है।

service charge
service charge

 

गौरतलब है कि पिछले कई महीनों से सरकार को शिकायतें मिल रही थी कि रेस्टोरेंट ग्राहकों से जबरन सर्विस चार्ज वसूलते हैं। शिकायतों में कहा गया था कि टिप के रूप में रेस्टोरेंट 5 से 20 फीसदी तक सर्विस चार्ज लेते है। ग्राहकों से मिली शिकायतों के बाद मंत्रालय ने यह निर्णय लिया। ऐसे में साफ है कि अब नए साल में यदि आप किसी रेस्टोरेंट या होटल में खाना जाते है और आपको सर्विस अच्छी नहीं लगे तो आप सर्विस चार्ज देने से इनकार कर सकते है। आप अपने बिल में से सर्विस चार्ज को हटवाने के लिए कह सकते है।

यह भी देखे: गरीब को अचानक मिले 99 अरब, फिर भी परेशान, जाने वजह

आपको बतादें सर्विस चार्ज एवं सर्विस टैक्स में अंतर है। यह छूट सर्विस चार्ज पर दी गई है। सर्विस चार्ज को साधारण भाषा में टिप भी कहा जा सकता है। हालांकि सरकार के इस फैसले से नेशनल रेस्टोरेंट असोशिएशन ने आपत्ति जताई है। नाखुश एनआरएआई ने कहा कि यदि ग्राहक सर्विस चार्ज नहीं देना चाहते तो वह रेस्टोरेंट या होटल्स में खाना ही नहीं खाएं। यह कोई गलत काम नहीं है। इससे मिली रकम को कर्मचारियों में बांट दिया जाता है जो रेस्टोरेंट में सर्विस देते है।

https://duta.in/mobile-pe-news-iframe.php
loading...

Check Also

GST in Hindi

GST in Hindi : क्या है जीएसटी, जानिए GST से जुड़ी 10 खास बातें

नई दिल्ली। देशभर में इन दिनों एक मुद्दा चर्चा का विषय बना हुआ है, वह …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *